रैम और रोम में क्या अंतर है? !! Difference between ram and rom ?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

रैम (RAM) और रोम (ROM) दोनों ही कंप्यूटर मेमोरी के प्रकार हैं लेकिन इनमें विभिन्न अंतर होते हैं:

विधि (Functionality):

रैम (RAM): रैम विभिन्न कार्यों के लिए अस्तित्व रखती है जब कंप्यूटर चालू होता है। इसमें समय के साथ बदलती जानेवाली डेटा को धारित करती है जिसे प्रमाणित कार्यों के लिए त्वरित रूप से एक्सेस किया जा सकता है।

रोम (ROM): रोम स्थायी डेटा को संग्रहित करती है और यह केवल पढ़ने के लिए होती है, लेकिन यह डेटा स्थायी रूप से सुरक्षित रहता है और कंप्यूटर को चालू होते समय भी उपयोगकर्ता तक पहुंचाया जा सकता है।

साक्षरता (Read/Write):

रैम (RAM): रैम में डेटा को पढ़ा जा सकता है और उसे लिखा जा सकता है, इसलिए इसे ‘पढ़ने और लिखने योग्य मेमोरी’ कहा जाता है।

रोम (ROM): रोम को केवल पढ़ा जा सकता है, इसमें डेटा को लिखा नहीं जा सकता है, इसलिए इसे ‘केवल पढ़ने योग्य मेमोरी’ कहा जाता है।

स्थायिता (Volatility):

रैम (RAM): रैम वोलेटाइल होती है, यानी जब तक कंप्यूटर चालू है, तब तक इसमें डेटा स्थायी रूप से नहीं बना रहता है। जब कंप्यूटर को बंद किया जाता है, तो रैम सभी डेटा को खो देती है।

रोम (ROM): रोम स्थायी होती है, इसमें संग्रहित डेटा को कंप्यूटर बंद होने के बाद भी बरकरार रहता है।

उदाहरण (Example):

रैम (RAM): रैम का एक उदाहरण रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) है, जो कंप्यूटर के चालू होते समय त्वरित डेटा एक्सेस के लिए उपयोग होती है।

रोम (ROM): रोम का एक उदाहरण आपके कंप्यूटर की बूट रोम हो सकता है, जो ऑपरेटिंग सिस्टम को चालू करने के लिए आवश्यक है और स्थायी रूप से संग्रहित होता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment

error: Content is protected !!